Decrease Font Size Increase Font Size || Print Button
This File was last Updated/Modified: November 05 2014 11:07:32.

संगठन

प्रधान मंत्री योजना आयोग के अध्यक्ष हैं। आयोग राष्ट्रीय विकास परिषद के व्यपाक मार्ग निर्देशन के अंतर्गत काम करता है। आयोग के अपाध्यक्ष और पूर्ण कालिक सदस्य के संगठित निकाय के रूप में पंच वर्षीय योजनाओं, वार्षिक योजनाओं, राज्य योजनाओं, निगरानी योजनाओं और स्कीमों को तैयार करने के लिए विषय प्रयोगों की परामर्श और मार्ग निर्देश देते हैं।

योजना आयोग अनेक प्रभागों के माध्यम से कार्य करता है। प्रत्येक प्रमाण एक वरिष्ठ अधिकारी के अधीन है। गठन इस प्रकार है:

प्रभाग

  1. कृषि
  2. पिछड़े वर्ग प्रभाग
  3. संचार और सूचना प्रभाग
  4. विकास नीति प्रभाग
  5. शिक्षा प्रभाग
  6. पर्यावरण संसाधन प्रभाग
  7. वित्तीय संसाधन प्रभाग
  8. स्वास्थ्य, पोषण और परिवार कल्याण प्रभाग
  9. आवास, नगरीय विकास और जन आपूर्ति प्रभाग
  10. अद्योग और खनिज प्रभाग
  11. आंतरिक अर्थ मानव शक्ति प्रभाग
  12. ढांचा प्रभाग,
  13. श्रम, रोजगार और मानव शक्ति प्रभाग
  14. बहु स्तरीय योजना प्रमाण
    • सीमा क्षेत्र विकास कार्यक्रम
    • पश्चिमी घाट विकास कार्यक्रम
  1. निगरानी प्रभाग
  2. भावी योजना प्रभाग
  3. कार्यक्रम परिणाम और प्रत्युत्तर निगरानी प्रभाग
  4. योजना समन्वय प्रभाग
  5. विद्युत और ऊर्जा प्रभाग
  6. कार्यक्रम मूल्यांकन संगठन
  7. परियोजना मूल्यांकन और प्रबंधन प्रभाग
  8. ग्रामीण विकास प्रभाग
  9. विज्ञान और प्रौद्योगिकी प्रभाग
  10. सामाजिक विकास और महिला कार्यक्रम प्रभाग
  11. समाज कल्याण प्रभाग
  12. राज्य योजना प्रभाग
  13. परिवहन प्रभाग
  14. ग्रामीण और छोटे उद्यम प्रभाग
  15. जल संसाधन प्रभाग
  16. प्रशासन और सेवाएं प्रभाग
  17. सामाजिक आर्थिक अनुसंधान प्रभाग

कार्यालय ज्ञपान: "ग्रामिण और लघु उद्योग प्रभाग" का नाम बदल कर "ग्रामीण और लघु उद्यम" किया गया